Sunday, December 08, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
India
राहुल गांधी ने कहा- हम सरकार के साथ, मनमोहन सिंह बोले- आतंक से समझौता नहीं

जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में गुरुवार शाम हुए हमले में जैश के आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों को ले जा रही बस को टक्कर मार दी, जिसमें 37 जवान शहीद हो गए। यह 2016 में हुए उरी हमले के बाद सबसे भीषण आतंकवादी हमला है। केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के 2500 से अधिक कर्मी 78 वाहनों के काफिले में जा रहे थे। इनमें से अधिकतर अपनी छुट्टियां बिताने के बाद अपनी ड्यूटी पर लौट रहे थे। जम्मू कश्मीर राजमार्ग पर अवंतिपोरा इलाके में लाटूमोड पर इस काफिले पर अपराह्न करीब साढ़े तीन बजे घात लगाकर हमला किया गया। हमले के मद्देनजर शुक्रवार को पीएम मोदी की अध्यक्षता में सुरक्षा पर कैबिनेट समिति (CCS) की बैठक हुई। बैठक में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, तीनों सेनाध्यक्ष और CRPF के डीजी ने भाग लिया। बैठक के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि पाकिस्तान को कूटनीतिक तौर पर अलग-थलग किया जाएगा। पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस लिया जाएगा। आतंक के समर्थकों को पछताना पड़ेगा।

आतंकियों को पीएम मोदी की सख्त चेतावनी, बोले- हमले की चुकानी होगी कीमत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को आतंकवादियों के सरपरस्तों को कड़ा संदेश दिया। पीएम ने कहा कि पुलवामा में सुरक्षाबलों को निशाना बनाकर आतंकवादियों और उनके सरपरस्तों ने बहुत बड़ी गलती की है। उन्होंने कहा कि आतंकवादियों के आकाओं को इसकी बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी। पीएम मोदी ने यह बयान वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाने के मौके पर कही। 

पीएम ने कहा, 'पुलवामा हमले के बाद सैनिकों को पूरी स्वतंत्रता दे दी गई है। हमें अपने सुरक्षाबलों पर पूरा भरोसा है। आतंकवाद को कुचलने में हमारी लड़ाई और तेज होगी। मैं आतंकी संगठनों को और उनके सरपरस्तों को कहना चाहता हूं कि वे बहुत बड़ी गलती कर चुके हैं। इसकी बहुत बड़ी कीमत उन्हें चुकानी पड़ेगी। मैं देश को भरोसा देता हूं कि इस हमले के पीछे जो ताकतें और गुनहगार हैं उन्हें उनके किए की सजा मिलेगी।'

भारत ने ब्रिटेन में आतंकी हमले की निंदा की, उच्चायोग के लगातार संपर्क में हैं विदेश मंत्री

भारत ने ब्रिटेन की संसद के निकट वेस्टमिंस्टर में बुधवार को हुए आतंकी हमले की निंदा करते हुए कहा कि लोकतांत्रिक और सभ्य समाज में आतंकवाद के लिए कोई स्थान नहीं है.

 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने ट्वीट किया, 'भारत वेस्टमिंस्टर आतंकी हमले की कड़ी निंदा करता है और लोगों की मौत पर शोक प्रकट करता है. लोकतांत्रिक और सभ्य समाज में आतंकवाद के लिए कोई स्थान नहीं है.'