Wednesday, December 08, 2021
Follow us on
BREAKING NEWS
नई 413- राजमार्ग का उद्देश्य पश्चिम GTA में गतिरोध को दूर करना है।कोविड -19 मामलों में ओंटारियो का 7-दिवसीय औसत लगभग एक महीने में पहली बार 500 से ऊपर।ट्रूडो ने नए मंत्रिमंडल का किया अनावरण, आनंद ने संभाला राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय.मंगलवार की सुबह ब्रैम्पटन में एक वाहन की चपेट में आने से 18 वर्षीय एक महिला गंभीर रूप से घायल।सिटी ऑफ ब्रैम्पटन आवेदकों के लिए प्रक्रिया को अधिक आसान बनाने के लिए शादी के लाइसेंस की सिंगल आई.डी. सूची बना रही है.दीवाली सुरक्षित रूप से मनाएं!नवजोत सिंह सिद्धू ने सोनिया गांधी को लिखा पत्र, बताया- कांग्रेस के लिए आखिरी मौका…ब्रैम्पटन में दो वाहनों की टक्कर में पांच लोग घायल हो गए।
India

मंत्री का बेटा थार में था, सबूत मिला:CCTV फुटेज में जीप में बैठते हुए दिखाई दिया लखीमपुर केस का आरोपी आशीष मिश्र; इसी के आधार पर SIT ने की थी गिरफ्तारी

October 11, 2021 09:15 PM

लखीमपुर हिंसा मामले में SIT के हाथ बड़ा सबूत हाथ लगा है। पुलिस ने घटनास्थल के पास से दो दुकानों के DVR जब्त किए थे। सूत्रों के मुताबिक, जिस वक्त तिकुनिया में हिंसा हुई उस वक्त केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा का आरोपी बेटा आशीष घटनास्थल पर ही था। उस वक्त उसने सफेद शर्ट पहन रखी थी। SIT को मिले CCTV में वह दिख भी रहा है। पुलिस ने इसी फुटेज के आधार पर आशीष को गिरफ्तार किया है।

जिस थार जीप से किसानों को कुचला गया था, उसमें आरोपी आशीष की तरह सफेद शर्ट पहने हुए एक व्यक्ति बैठा दिख रहा है। हालांकि, हिंसा के बाद दावा किया गया था कि जीप ड्राइवर हरिओम चला रहा था और उसने सफेद रंग की शर्ट पहन रखी थी। उसकी किसानों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी, लेकिन ड्राइवर हरिओम का शव पीले रंग की धारीदार शर्ट में बरामद हुआ था।

पुलिस ने एक लाइसेंसी राइफल और पिस्टल को भी जब्त किया है, जिसे फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है। ये दोनों असलहे आशीष मिश्रा के नाम हैं। एक मोबाइल भी जब्त किया गया है। आज (सोमवार) आशीष मिश्रा के पुलिस कस्टडी पर सुनवाई शुरू हो गई है। पुलिस ने 14 दिन की रिमांड मांगी है। 9 अक्टूबर की देर रात आशीष को गिरफ्तारी के बाद 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया था।

लखीमपुर जिला मुख्यालय से करीब 70 किलोमीटर दूर नेपाल की सीमा से सटे तिकुनिया गांव में 3 अक्टूबर को दोपहर करीब तीन बजे किसान भारी मात्रा में प्रदर्शन कर रहे थे, तभी अचानक से तीन गाड़ियां (थार जीप, फॉर्च्यूनर और स्कॉर्पियो) किसानों को रौंदते चली गईं। घटना से आक्रोशित किसानों ने जमकर हंगामा किया। इस हिंसा में कुल 8 लोगों की मौत हो गई। इसमें 4 किसान, एक स्थानीय पत्रकार, दो भाजपा कार्यकर्ता शामिल हैं।

यह घटना तिकुनिया में आयोजित दंगल कार्यक्रम में UP के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के पहुंचने से पहले हुई। घटना के बाद उप मुख्यमंत्री ने अपना दौरा रद्द कर दिया था। आरोप है कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा की कार ने विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों को कुचला। इसके बाद UP में सियासत तेज हो गई है।

 
Have something to say? Post your comment