Thursday, February 22, 2024
Follow us on
BREAKING NEWS
Khalistan Referendum: पांच डॉलर वाला कनाडा का जनमत संग्रह? Canada immigrationकनाडा अब फैमिली वीजा प्रोसेसिंग में तेजी लाएगाCanada students कनाडा में भारतीय छात्राओं को वेश्यावृत्ति में फंसा रहे दलालAmritpal singh: खालिस्तान समर्थक संगठन ‘वारिस पंजाब दे’ के प्रमुख अमृतपाल गिरफ्तार23 मिनट पहलेBathinda Military Station : बठिंडा मिलिट्री स्टेशन में फायरिंग करने वाला आरोपी जवान गिरफ्तार, पूछताछ जारीपपलप्रीत Papalpreet Singh को डिब्रूगढ़ जेल भेजा गया:मीडिया से बोला- पुलिस ने जो कहा, सच हैनेपाल बॉर्डर पर अमृतपाल वांटेड के पोस्टर, प्राइवेट आर्मी की ट्रेनिंग के लिए पाकिस्तान से मंगवाई AK-47Attack on Hindu Temples: ऑस्ट्रेलिया में हिंदू मंदिरों को क्यों बनाया जा रहा निशाना, इसके पीछे किसका हाथ?
Education
Canada immigrationकनाडा अब फैमिली वीजा प्रोसेसिंग में तेजी लाएगा

Canada कनाडा अब फैमिली वीजा प्रोसेसिंग में तेजी लाएगा

Toronto, Canada: कनाडा ने अलग अलग देशों में रहने वाले परिवारों को कनाडा में एकजुट करने के लिए फैमिली वीजा के प्रोसेस तेज करने की घोषणा की है। स्पाउज वीजा कैटेगरी में पति पत्नी के लिए और पत्नी पति के लिए वीजा आवेदन करेंगे तो एप्लीकेशन को 30 दिनों में प्रोसेस किया जाएगा। साथ ही फैमिली वीजा कैटेगरी में कनाडा से बाहर रह रहे बच्चों के वीजा एप्लीकेशन भी 30 दिनों में प्रोसेस होंगे। बीते महीनों में इस तरह के वीजा को मंजूर करने की दर 98 प्रतिशत से अधिक आई है।

Attack on Hindu Temples: ऑस्ट्रेलिया में हिंदू मंदिरों को क्यों बनाया जा रहा निशाना, इसके पीछे किसका हाथ?

Attack on Hindu Temples: ऑस्ट्रेलिया में हिंदू मंदिरों को क्यों बनाया जा रहा निशाना, इसके पीछे किसका हाथ?

मेलबर्न 

मेलबर्न ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में 15 दिन के अंदर तीन हिंदू मंदिरों पर हमला हुआ है। तोड़फोड़ हुई और भारत विरोधी नारे लिखे गए। कैनबरा स्थित भारतीय उच्चायोग ने इन हमलों पर कड़ी आपत्ति जताई है। उच्चायोग ने कहा है कि 'हम मेलबर्न में तीन हिंदू मंदिरों में तोड़फोड़ की कड़ी आलोचना करते हैं। यह साफ तौर पर शांतिपूर्ण और बहुधर्मी भारतीय ऑस्ट्रेलियाई समाज में नफरत और बंटवारा करने की कोशिश है।' वहीं, दूसरी ओर वहां के हिंदू संगठनों ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की। ऐसे में सवाल ये है कि आखिर क्यों हिंदू मंदिरों को निशाना बनाया जा रहा है? इसके पीछे मकसद क्या है? हमला करने वाले लोग कौन हैं और वो क्या चाहते हैं?

अब दो सालों तक देश में संपत्ति नहीं खरीद पाएंगे विदेशी, कनाडा के राष्ट्रपति ने लिया बड़ा फैसला

अब दो सालों तक देश में संपत्ति नहीं खरीद पाएंगे विदेशी, कनाडा के राष्ट्रपति ने लिया बड़ा फैसला

ओटावा

कनाडा में अपना घर खरीदने का सपना देख रहे विदेशी लोगों की यह इच्छा पूरी नहीं हो सकती है। दरअसल कनाडा के राष्ट्रपति ने घर खरीदने के मामले में एक बड़ा फैसला किया है। पोएम ट्रूडो ने रविवार से दो साल विदेशियों के घर खरीदने पर पाबंदी लगा दी है। कनाडा के स्थानीय लोगों को घर उपलब्ध कराने को लेकर सरकार ने ऐसा कदम उठाया है। हालांकि इस नए अधिनियम में कई अपवाद भी हैं। जैसे कि शरणार्थियों और स्थायी निवासियों (जो नागरिक नहीं हैं) को घर घरीदने की इजाजत है। इसके अलावा, यह प्रतिबंध केवल शहर के आवासों पर लागू है। इसके अलावा रेक्रीऐशनल कॉटेज जैसी मनोरंजक संपत्तियों को खरीदने पर कोई रोक नहीं लगाया गया है।

बढ़ते स्टूडेंट्स के चलते वेलैंड स्कूल को 10 मिलियन डॉलर का मेकओवर मिला

बढ़ते स्टूडेंट्स के चलते वेलैंड स्कूल को 10 मिलियन डॉलर का मेकओवर मिला
वेलैंड
वेलैंड का क्वेकर रोड पब्लिक स्कूल को राज्य से 10.4 मिलियन डॉलर के निवेश के साथ बहुत अधिक स्टूडेंट्स के लिए जगह बनाने के लिए तैयार है। क्वेकर रोड 1995 से पेलहम और थोरोल्ड की सीमाओं के पास है। जब इसे बनाया गया था तो वेलैंड में लगभग 48,000 लोग थे। हालांकि, चूंकि समुदाय 15 प्रतिशत से अधिक बढक़र 55,750 हो गया है, इसलिए भी अधिक क्लासरूम्स की आवश्यकता है।

 
कैनेडा ने इमिग्रेशन फीस को 5 से 50 डॉलर तक बढ़ाया

कैनेडा ने इमिग्रेशन फीस को 5 से 50 डॉलर तक बढ़ाया
ओटावा
कैनेडा ने साल 2022 के लिए अलग अलग कैटेगरीज में वीजा आवेदन फीस को 5 से 50 डॉलर तक बढ़ा दिया है। कैनेडा सरकार ने 30 अप्रैल से सभी परमानेंट रेंजीडेंस एप्लीकेशंस के लिए फीस को बढ़ाया है। पीआर के लिए फीस को 500 डॉलर से बढ़ाकर 515 डॉलर कर दिया गया है। 

ओंटेरियो में लगातार तीसरे साल कॉलेज और यूनिवर्सिटी की सारी फीस माफ

ओंटेरियो में लगातार तीसरे साल कॉलेज और यूनिवर्सिटी की सारी फीस माफ

ओटावा

ओंटारियो ने 2022-2023 तक कॉलेज और यूनिवर्सिटी ट्यूशन फीस को एक और साल के लिए माफ कर दिया है। ओंटारियो सरकार द्वारा कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के लिए मौजूदा ट्यूशन फीस माफी को 2022-2023 तक एक अन्य साल के लिए बढ़ाया जा रहा है, जिससे माध्यमिक शिक्षा के बाद सस्ती शिक्षा तक पहुंच में वृद्धि हो और शिक्षार्थियों के लिए वित्तीय बाधाओं को कम करने के साथ वित्तीय राहत प्रदान की जा सके। बता दें कि आर्थिक रूप से स्कूल सस्ते करने के पीछे शिक्षा को बढ़ावा देना मकसद बताया जा रहा है जिससे ज्यादा बच्चे पढ़ाई आसानी से कर पाएं। सरकार पढ़ाई को बढ़ावा देने के लिए हर मुमकिन कदम उठा रही है।

कैनेडा ने 2021 में सबसे अधिक भारतीय स्टूडेंट्स को दाखिला दिया

कैनेडा ने 2021 में सबसे अधिक भारतीय स्टूडेंट्स को दाखिला दिया

450,000 नए इंटरनेशनल स्टूडेंट्स का स्वागत किया, जिनमें  रिकॉर्ड 2 लाख 17 हजार भारतीय

भारतीय स्टूडेंट्स में करीब 50 फीसदी पंजाब से

गुलशन कुमार

चंडीगढ़

कैनेडा ने साल 2021 में रिकॉर्ड 4 लाख 50 हजार इंटरनेशनल स्टूडेंट्स को स्टडी परमिट जारी किए हैं। इनमें से सबसे अधिक भारतीय हैं जिनका आंकड़ा 2 लाख 17 हजार तक पहुंच गया है। इनमें भी एक लाख से अधिक स्टूडेंट अकेले पंजाब से गए हैं। कोरोना के बाद से भारतीय स्टूडेंट्स को तेजी से कैनेडा में स्टडी वीजा मिले हैं।

कैनेडा में 5 भारतीय स्टूडेंट्स की मौत:देर रात घूमने गया था 7 दोस्तों का ग्रुप

कैनेडा में 5 भारतीय स्टूडेंट्स की मौत:देर रात घूमने गया था 7 दोस्तों का ग्रुप

टोरंटो

कैनेडा के टोरंटो में शनिवार को एक सड़क हादसे में पांच 5 भारतीय छात्रों की मौत हो गई। 2 घायल अभी हॉस्पिटल में हैं। हादसे की खबर कैनेडा में भारत के उच्चायुक्त अजय बिसारिया ने दी। वैन और ट्रेलर के टकराने से हरप्रीत सिंह, जसपिंदर सिंह, करनपाल सिंह, मोहित चौहान और पवन कुमार की मौत हो गई। इनकी उम्र 21 से 24 साल के बीच बताई गई है। ये सभी ग्रेटर टोरंटो और मोंट्रेयल के हैं।

पैट्रिक ब्राउन की विफल ब्रैम्पटन यूनिवर्सिटी योजना की लागत पर काउंसलर हुए ‘हैरान’
पैट्रिक ब्राउन की विफल ब्रैम्पटन यूनिवर्सिटी योजना की लागत पर काउंसलर हुए ‘हैरान’
ब्रैम्पटन 
मेयर पैट्रिक ब्राउन और काउंसलर रोवेना सैंटोस के सीधे संबंधों वाले सलाहकारों ने प्रतिस्पर्धी कांट्रेक्ट प्रोसेस  शुरू होने से बहुत पहले ब्रैम्पटन यूनिवर्सिटी की योजना पर काम करना शुरू कर दिया था और बहुत पहले काउंसिल के अन्य सदस्यों को भी इस योजना के बारे में पता था या इसके लिए मंजूरशुदा फाइनेंसिंग, नाराज काउंसलों के अनुसार जो प्राप्त आंतरिक शहर के दस्तावेज़ भी द पॉइंटर के साथ साझा किए गए।
दस्तावेज़ ब्राउन और सैंटोस से जुड़े दो सलाहकारों को फाइनेंसिंग पर प्रकाश डालते हैं। वे दिखाते हैं कि ब्रैम्पटन यूनिवर्सिटी पर काम काउंसिल को योजना के बारे में सूचित किए जाने से बहुत पहले शुरू हो गया था और दोनों फर्मों ने काम के लिए बोली प्रक्रिया शुरू होने से महीनों पहले ही अपनी सगाई शुरू कर दी थी। उनके नाम पहले कर्मचारियों द्वारा परिषद को प्रस्तुत किए गए थे, जि
ओंटारियो सरकार ने स्कूलों में मुफ्त सैनिटरी पैड लॉन्च किए।

तीन साल की साझेदारी बाधाओं को दूर करेगी और महिलाओं और लड़कियों के सशक्तिकरण का समर्थन करेगी।