Wednesday, February 24, 2021
Follow us on
BREAKING NEWS
ट्रूडो का कहना है कि 14 दिन के संगरोध के लिए छुट्टियां मनाने वाले कैनेडा सिकनेस लाभ का दावा नहीं कर पाएंगे।ओंटारियो में लगातार दूसरे दिन 3,000 से अधिक COVID-19 मामलों की रिपोर्ट।कृषि क़ानूनों में संशोधन को तैयार होकर केंद्र ने माना कि उसमें कमियां थीं: भारतीय किसान यूनियन.हत्याकांड की जांच: मार्खम घर में विस्फोट से 2 बच्चों की मौत.ओंटारियो में 2,200 से अधिक नए COVID -19 मामलों में 21 मौतें हुईं।नए COVID-19 वेरिएंट उभरने के साथ फोर्ड ने हवाई अड्डों पर COVID-19 परीक्षण बढ़ाया।ओंटारियो में लॉकडाउन बॉक्सिंग डे से शुरू होगा, प्रीमियर डग फोर्ड ने घोषणा की है।C0VID-19 मॉडर्न वैक्सीन को अब फ्रीज की जरूरत नहीं है, जो शिपिंग की आसान सुविधा बनाती है।
World

दलाई लामा को अरुणाचल में एंट्री देने से रिश्तों को गंभीर नुकसान होगा: चीन

March 03, 2017 06:25 PM

बीजिंग.चीन ने शुक्रवार को कहा कि अगर भारत तिब्बती धर्म गुरू दलाई लामा को अरुणाचल प्रदेश जाने की इजाजत देता है तो इससे दोनों देशों के रिश्तों को गंभीर नुकसान होगा। इससे बॉर्डर में जारी शांति को भी नुकसान हो सकता है। चीन की फॉरेन मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन ने कहा- चीन को जानकारी मिली है कि भारत ने दलाई लामा को अरुणाचल जाने की इजाजत दी है। हमारे लिए ये गंभीर चिंता की वजह है। और क्या कहा चीन ने...

- चीनी फॉरेन मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन गेंग शुआंग ने शुक्रवार को मीडिया से कहा- हम दलाई लामा को लेकर आ रही खबरों को लेकर काफी गंभीर हैं।
- बता दें कि चीन अरुणाचल प्रदेश को तिब्बत का हिस्सा बताता रहा है। दलाई लामा के यहां आने को चीन हमेशा से अपने इंटरनल मामलों में दखल के तौर पर देखता है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस साल किसी भी वक्त दलाई लामा अरुणाचल जा सकते हैं। भारत सरकार ने उन्हें इसकी इजाजत दे दी है।
- शुआंग ने कहा- चीन दलाई लामा की इस विवादित इलाके में विजिट का विरोध करता है।
चीन का विरोध करते हैं दलाई लामा
- शुआंग ने कहा- दलाई चीन के खिलाफ आंदोलन को भड़काने की कोशिश करते रहे हैं। हमने अपनी फिक्र के बारे में प्रॉपर चैनल के जरिए भारत को बता दिया है।
- उन्होंने कहा- भारत दलाई लामा के मुद्दे की सीरियसनेस को बेहतर तरीके से समझता है। लेकिन अगर फिर भी वो तिब्बती धर्म गुरू को इस क्षेत्र में आने की परमिशन देता है तो इसके दोनों देशों के रिश्तों पर गंभीर नतीजे होंगे। इसके अलावा बॉर्डर पर शांति भी प्रभावित हो सकती है।
- पिछले साल भारत में अमेरिकी एम्बेसेडर रिचर्ड वर्मा भी अरुणाचल गए थे और तब भी चीन ने इसका विरोध किया था। अरुणाचल के कुछ हिस्से पर चीन 1962 की जंग के बाद कब्जा कर लिया था। दोनों देशों के बीच 3,488 km लंबी बॉर्डर पर भी विवाद है। इसको सुलझाने के लिए कई दौर की बातचीत भी हो चुकी है।
भारत अगर तवांग पर दावा छोड़े तो विवाद हल हो जाएगा
- चीन के एक पूर्व डिप्लोमैट ने कहा है कि दोनों देशों की बीच बॉर्डर विवाद सुलझ सकता है अगर भारत तवांग रीजन पर अपना दावा छोड़ दे।
- हालांकि, भारत ने चीन के इस ऑफर को पूरी तरह खारिज कर दिया है। भारत की तरफ से कहा गया कि ये होना नामुमकिन है।

Have something to say? Post your comment
More World News
फाइजर-बायोएनटेक के कोरोना वैक्‍सीन को मंजूरी देने वाला पहला देश बना ब्रिटेन.
हैप्पी बर्थडे जो बाइडेन: बाइडेन 78 साल के हो गए, वे राष्ट्रपति के रूप में,आयु में सबसे बड़े अमेरिकी राष्ट्रपति होंगे।
ट्रम्प ने बिडेन को ब्लॉक करने के लिए देर से बोली में वोट प्रमाणीकरण को लक्षित किया।
अमेरिका में दंगों के बीच शहरों की सहायता के लिए नेशनल गार्ड्स को बुलाया.
अमेरिका ने WHO से तोड़ा नाता, राष्ट्रपति ट्रंप ने किया ये बड़ा एलान.
चालक ने जानबूझकर मध्य जर्मनी में कार्निवल-जाने वालों को लताड़ा; 30 को चोट लगी
पुलवामा हमले पर बड़ा खुलासा: आतंकी हाफिज सईद ने 5 फरवरी को एक रैली में दी थी भारत पर हमले की धमकी
अमेरिका ने प्रशांत महासागर में होने वाले सैन्याभ्यास में चीनी नौसेना को नहीं किया आमंत्रित.
70 साल की महिला प्रेग्नेंट, डॉक्टर्स हुए हैरान
10 dead, 10 wounded following Texas high school shooting. (अमेरिका के एक स्कूल में भीषण गोलीबारी, 10 लोगों की मौत)